आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए बड़ी खुशखबरी, रिटायरमेंट की उम्र सिमा 62 से बढ़ाकर की गई 65 साल

छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं के लिए एक बड़ा ऐलान किया है। अब छत्तीसगढ़ में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं की सेवा की नौकरी की रिटायरमेंट उम्र की सिमा को 62 साल से बढ़ाकर 65 साल कर दिया गया है। इस संबंध में, छत्तीसगढ़ में महिला एवं बाल विकास विभाग ने आदेश जारी किया है। इसके पीछे का कारण है कि सीएम भूपेश बघेल ने 2023-24 के बजट में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं की मांगों को पूरा करते हुए मानदेय में वृद्धि की घोषणा की थी। छत्तीसगढ़ में, 1 अप्रैल 2023 से आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं की मांग को ध्यान में रखकर मानदेय में वृद्धि कर दी जा रही है।

आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को मिल रहा बढ़ा हुआ मानदेय।

पहले से ही आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को मानदेय 6,500 रुपये प्रति महीने से बढ़ाकर 10,000 रुपये दिया जा रहा है। इसी तरह आंगनबाड़ी सहायिकाओं के मानदेय को 3,250 रुपये से बढ़ाकर 5,000 रुपये प्रति महीने और मिनी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के मानदेय को 4,500 रुपये से बढ़ाकर 7,500 रुपया प्रति महीना किया जा चुका है।

 एक मुफ्त पेमेंट का भी प्रावधान

इसके अलावा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं के लिए मृत्यु पर अनुग्रह राशि और रिटायरमेंट पर एक मुश्त पेमेंट मिलता है। आंगनबाड़ी वर्कर्स और हेल्पर्स की मृत्यु पर अनुग्रह राशि में वृद्धि करते हुए अब 50,000 रुपये की मदत दी जा रही है। साथ ही, आंगनबाड़ी वर्कर्स को रिटायरमेंट पर 50,000 रुपये और हेल्पर्स को 25,000 रुपये का भुगतान का प्रावधान है।

सरकार लेगी चुनाव से पहले अहम फैसला

यहाँ छत्तीसगढ़ में इस साल विधानसभा चुनाव होने की संभावना है। इसके पूर्व, छत्तीसगढ़ सरकार ने आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं के लिए यह महत्वपूर्ण फैसला लिया है। छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल सरकार को सत्ता में रहने की चुनौती का सामना करना है। इन कार्यकर्ताओं ने पहले ही अपनी मांगों को प्रकट किया था। इस फैसले से आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को बड़ी राहत मिला है।

Scroll to Top